मेरी प्यारी माँ पर, मदर डे पर निबंध। Essay on Mother Day in Hindi for class 7

Essay on Mother Day in Hindi for class 7,मेरी माँ पर निबंध, मातृ दिवस पर निबंध, मदर डे पर निबंध हिंदी मे।

Essay on Mother Day in Hindi for class 7

Essay on Mother Day in Hindi for class 7, मेरी माँ पर निबंध, मातृ दिवस पर निबंध, मदर डे पर निबंध हिंदी मे।

माँ एक अक्षर का शब्द है, लेकिन इस अक्षर में सारा जहां समाया हुआ है। लोग सच कहते हैं, जब भगवान धरती पर सब का ख्याल रखने में नाकामयाब रहा तो उसने माँ जैसे पवित्र सुंदर मूर्ति को बनाया, जो तुम्हारा दिन-रात ख्याल रख सके। माँ साक्षात ईश्वर का दूसरा रूप है। इस धरती पर हमें अपनी जान से भी ज्यादा प्यार करने वाला माँ के सिवा और कोई नहीं है।

माँ ने मुझे जन्म दिया, मेरी उंगली पकड़कर मुझे बोलना, चलना सिखाया, खुद जागकर मुझे सुलाया, मुझे अच्छी नींद आने के लिए लोरियां सुनाई। माँ ने मुझे पाप और पुण्य का फर्क समझाया। मुझे पढ़ा लिखाकर खुद के पैरों पर खड़ा होना सिखाया और इस समाज में एक अच्छा इंसान बनकर जीना सिखाया।

मेरी माँ मेरा पहला गुरु है। इस दुनिया मे जितने भी महापुरुष बने है उनके इस सफलता के पीछे उनकी माँ की सीख है, मां के अच्छे संस्कार है। जब पापा डांटते हैं तो माँ उन्हें चुप कराती है और मुझे प्यार से गले लगाती है।

Essay on Mother Day in Hindi for class 7, मेरी माँ पर निबंध, मातृ दिवस पर निबंध, मदर डे पर निबंध हिंदी मे।

माँ कभी कभी खुद भूखी सोती है, पर मुझे खिलाती है। माँ मेरी एक अच्छी दोस्त होती है, मुझे क्या चाहिए क्या नहीं चाहिए, वह सब कुछ समझ लेती है, वह मेरी हर जरूरत पूरी करती है, हमारे पसंद का खाना बनाती है। मेरी माँ मुझे नेक कामों के लिए मुझे प्रेरित करती है। मेरी माँ मुझे घर के जानवरों पर दया दिखाना सिखाते हैं, उनपर प्यार करना सिखाती है। मेरी माँ मेरे परिवार के लिए बहुत संघर्ष करती है, हर दुख सह लेती है लेकिन परिवार के सभी सदस्यों को खुश रखती है।

स्कूल जाते समय मेरी माँ मुझे मेरे पसंद की डिश मेरे टिफिन मे देती है, मेरा जन्मदिन मेरी माँ के लिए बहुत खुशी का दिन होता है, मेरे जन्मदिन पर मेरी माँ मेरे लिए मेरे पसंद के नए कपड़े खरीदती है, जन्मदिन के शुभ अवसर पर घर मे सबके लिए मीठा भोजन बनाती है, मेरी माँ घर मे मेरे दादा दादी का ख्याल अच्छी तरह से रखती है, उन्हे वक्तपर खाना देना दवाईया वक्त पर देना ये सभी काम मेरी माँ अकेले संभाल लेती है।

माँ मेरे जीवन का आधार है,

माँ मेरे लिए ममता का सागर है।

माँ तूने दिया मेरे जीवन को आकार,

माँ कैसे भूलूँ मै तेरे उपकार।

व्यक्ति अपने जीवन में कितनी भी सफलता की सीढ़ियां चढ़ जाए फिर भी वह माँ के बिना अकेला है। माँ के बिना भिकारी है। कभी-कभी माँ ऐसा कुछ अनमोल ज्ञान देती है, जो इस दुनिया के किसी भी पाठशाला में पढ़ाया नहीं जाता। बिना माँ के यह सारा संसार अधूरा है।

हम जब छोटे होते हैं, तब हमें अपने माँ के सहारे की जरूरत होती है, लेकिन जब हमारे मां-बाप को उनके बुढ़ापे में हमारे सहारे की जरूरत होती है, तब हम उनका साथ छोड़ देते हैं। हमें ऐसा पाप कभी नहीं करना चाहिए। हमें बुढ़ापे में अपने माँ-बाप का ख्याल रखना चाहिए, उन्हें प्यार करना चाहिए, यदि हम ऐसा करेंगे तो हमारा जीवन पूरी तरह से सफल हो जाएगा। मेरे जीवन में मेरी मां ने मुझे बहुत कुछ सिखाया है।

जीवन में आने वाली हर कठिनाई से संघर्ष करना सिखाया है। मेरी माँ मेरे जीवन मार्ग का दीपक है और मुझे आशा है कि यह दीपक मेरे अंतिम समय तक मुझे उजाला देगा और मुझे नई राह दिखाएगा। माँ मेरे जीवन मार्ग का दिया है। मेरी माँ ने मुझे जीवन दिया है, अपनी माँ के यह उपकार मै कभी नहीं भूलूँगा।

मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ,

हे ईश्वर, मेरी माँ के सारे दर्द मुझे देना,

यदि मिले मुझे अगला जन्म तो यही माँ मुझे वापस देना!

Read more:

मेरी माँ पर दिल को छूनेवाले 10 वाक्य

माँ पर बेहतरीन शायरी इन हिंदी

मदर टेरेसा के इंसानियत पर 25 विचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *