टेलीविज़न पर निबंध हिंदी मे। Essay on Television in Hindi

essay on television in Hindi in 250 words, essay on television in Hindi for class 5, television essay in Hindi for class 2, television essay in Hindi in 100 words, essay on television advantages and disadvantages in Hindi, Doordarshan essay in Hindi language, advantages and disadvantages of television in points in Hindi.

Essay on Television in Hindi

टेलीविजन इस दुनिया की सबसे आकर्षित वस्तु बन गई है। टेलीविजन जैसे मशीन का आविष्कार महान वैज्ञानिक जे.एल.बेयर्ड ने किया था। टेलीविजन को चलाने के लिए बिजली की आवश्यकता होती है। टेलीविजन पर दिखाई देनेवाले कार्यक्रम उपग्रहों की सहायता से दिखाई जाते है।

इस वैज्ञानिक जगत मे आजकल हर घर मे बिजली पाई जाती है और जिस घर मे बिजली होती है उस घर मे टेलीविजन जरूर दिखाई देता है। शुरुआत मे टेलीविजन ब्लॅक अँड व्हाइट रंग का था, जिसमे टेलीविजन पर दिखाई देनेवाले चित्र रंगीन नहीं थे, लेकिन आजकल तो सभी के घरों मे रंगीन टेलीविजन दिखाई देते है।

हर कोई व्यक्ति टेलीविज़न के सामने बैठकर अपना जादातर समय बिताना पसंद करता है। विश्व के किसी भी कोने मे घटी हुई घटनाओं का समाचार तुरंत टेलीविज़न पर दिखाई देता है। टेलीविजन को देश-दुनिया की खबर पहुंचानेवाला डिजिटल दूत कहा जाता है। टेलीविजन पर विज्ञान, स्वास्थ्य, शिक्षा, मनोरंजन, खेल और राजनीति के बारे मे जानकारी हमे तुरंत मिल जाती है।

जादातर लोग टेलीविजन पर मनोरंजन के कार्यक्रम देखना पसंद करते है। टेलीविजनने कई सारे लोगों के जीवन मे परिवर्तन लाया है। टेलीविजन हर घर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है। जिस घर मे टेलीविजन नहीं होता उस घर को सही रूपसे परिपूर्ण नहीं माना जाता।

आजकल के व्यस्त जीवन मे व्यक्ति दिनभर के श्रम के बाद थक जाता है, जीवन मे आनेवाली समस्याओं को सुलझाते हुये परेशान हो जाता है लेकिन शाम को घर आने के बाद टेलीविजन ही मात्र एक ऐसा साधन है जो थके हुये और परेशान हुये व्यक्तिओं का मनोरंजन करता है उनकी थकान दूर भगाता है।

Essay on Television in Hindi, टेलीविज़न पर निबंध हिंदी मे

Essay on Television in Hindi

अधिक पढे:

मेरा स्कूल पर निबंध

हमारा देश विविधता से सजा हुआ है। टेलीविजन पर सांस्कृतिक कार्यक्रम, धार्मिक कार्यक्रम जैसे कार्यक्रम भी दिखाई जाते है, जिससे राष्ट्रीय एकता बने रहने मे मदद मिलती है। जो युवा एम पी एस सी, यू पी एस सी, सरकारी नौकरी या किसी और परीक्षा की तैयारी कर रहे है उनके लिए भी टेलीविजन एक टीचर की भूमिका निभाता है।

घर मे टेलीविजन आजाने के कारण जादातर लोगोंने सिनेमा घरों मे जाना बंद कर दीया है और घर मे ही अपने फॅमिली के साथ सिरियल या फिल्म देखना पसंद करने लगे है। टेलीविजन पर 24 घंटे कुछ न कुछ जरूर दिखाया जाता है। कभी फिल्म होती है तो कभी सिरियल होती है, तो कभी आस्था का कार्यक्रम होता है।

टेलीविजन के आजाने से गृहणियाँ की चाँदी हो गई है। परिवार के कर्ता पुरुष काम पर घर से बाहर जाने के बाद गृहणियाँ पूरा दिन टेलीविजन पर अपने पसंद की सिरियल देखती रहती है और अपना मनोरंजन कराती है।

जैसे टेलीविजन के फायदे अनेक है वैसे ही टेलीविजन के नुकसान भी बहुत सारे है। जादा देर तक टेलीविजन देखने पर आँखों की रोशनी कमजोर हो जाती है। टेलीविजन से दूर जाने का मन नहीं करता है, इससे हमारा कीमती समय बर्बाद हो जाता है और हम अपने महत्वपूर्ण कामों की ओर ध्यान नहीं दे पाते है।

देर रात तक टेलीविजन देखने से नींद पूरी नहीं होती और सुबह हम जल्दी नहीं उठ पाते है। दैनिक जीवन मे शारीरिक श्रम का अभाव हो जाता है, जिसके चलते शारीरिक और मानसिक थकान महसूस होती है।

Essay on Television in Hindi, टेलीविज़न पर निबंध हिंदी मेEssay on Television in Hindi, टेलीविज़न पर निबंध हिंदी मेEssay on Television in Hindi, टेलीविज़न पर निबंध हिंदी मे।   

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *