शेर और चालाक खरगोश की कहानी। Lion and Rabbit Story in Hindi

lion and rabbit short story in Hindi matter, lion and rabbit story in Hindi download, sher aur khargosh ki kahani in hindi, sher aur khargosh ki kahani in short.

lion and rabbit story in hindi

एक बहुत घना जंगल था और उस जंगल मे कई सारे प्राणी सुख शांति से अपना जीवन बिता रहे थे। उस जंगल मे फल, फूल, हरी घास भारी मात्रा मे उपलब्ध थी इसलिए उस जंगल मे पंछी, बंदर, खरगोश, लोमड़ी, हिरन, गाय, हाथी, तितलियाँ आदि बहुत सारे प्राणी रहा करते थे।

लेकिन जंगल मे रहने वाले प्राणीयों के लिए एक बहुत बड़ी मुसीबत थी, एक शिकारी शेर भी उस जंगल मे रहा करता था और वो शिकारी शेर हर रोज कई सारे प्राणियों की एक साथ मे शिकार करता था, उन्हे जान से मार डालता था। शेर की इस हरकत की वजह से जंगल मे प्राणियों की संख्या दिन-ब-दिन घटती चली जा रही थी।

जंगल के सभी प्राणी शेर की इस हरकत की वजह से बहुत परेशान थे। सभी प्राणी इस बात से चिंतित थे की कही जंगल के सारे प्राणी नष्ट न हो जाए। एक दिन जंगल के सभी प्राणीयों ने इस संकट से बचने के लिए एक बैठक बुलाई, उस बैठक मे एक चतुर लोमड़ी भी शामिल थी उस लोमड़ी ने एक तरकीब निकाली कि उस शिकारी शेर को रोज खाने मे जंगल का एक प्राणी दिया जाएगा।

Lion and Rabbit Story in Hindi

lion and rabbit story in hindi

सभी प्राणीयों ने लोमड़ी की बात को सही समझा और वे सभी चलकर उस शिकारी शेर के पास चले गये और उन्होने शेर को खाने के लिए हर रोज एक प्राणी उसकी गुंफा तक पहुंचा दिया जाएगा यह प्रस्ताव शेर के सामने रखा, शेर ने भी इस प्रस्ताव का स्वीकार किया क्योंकि उसे भी शिकार करने के लिए अपने घर से बाहर जाना नहीं पड़ने वाला था।

अगले ही दिन से रोज एक प्राणी शेर की गुंफा मे शेर का खाना बनकर जाने लगा और शेर उस प्राणी को खाने लगा। कभी हिरन शेर का खाना बनकर जाता तो कभी गाय शेर का खाना बनकर जाती थी। सौभाग्य से उस जंगल मे एक पुराना चतुर खरगोश भी रहा करता था वो बहुत ही शातिर दिमाग का खरगोश था।

एक दिन उसी चतुर खरगोश की बारी आई और वो शिकारी शेर का खाना बनकर शेर की गुंफा की तरफ जाने लगा और अचानक रास्ते मे उसके दिमाग मे एक नई तरकीब आई खरगोश ने सोचा की मरने से पहले हमे एक नई चाल चलनी होगी और वो धीरे धीरे गुंफा की तरफ बढ्ने लगा।

शेर और चालाक खरगोश की कहानी।

Lion and Rabbit Story in Hindi, शेर और चालाक खरगोश की कहानी।  

lion and rabbit story in hindi

जैसे ही खरगोश गुंफा मे पहुंचा तो शेर ने खरगोश से कहा की तुमने आने मे इतनी देर क्यू लगाई तो खरगोश ने जवाब दिया कि रास्ते मे मुझे एक बहुत बड़ा शेर मिला था और वो खुद को इस जंगल का राजा समझता है और आपको मारने की बात करता है।

खरगोश की यह बात सुनकर शिकारी शेर अत्यधिक क्रोधित हो उठा और उसने उस नये शेर के पास ले जाने के लिए खरगोश को कहा, चतुर खरगोश शिकारी शेर को एक गहरे कुए की तरफ ले गया और उस कुए मे झांककर देखने को कहा शिकारी शेर ने जब कुएं मे देखा तो उसे अपना ही प्रतिबिंब उस कुएं के पानी मे दिखाई दिया, लेकिन मूर्ख शिकारी शेर यह बात नहीं समझा वो अपने ही प्रतिबिंब को अपना दुश्मन समझ बैठा और उस काल्पनिक शेर को मारने के लिए शिकारी शेर कुएं मे कूदा और मर गया।

चतुर खरगोश खुशी से वापस जंगल मे प्राणीयों के बीच गया और सारी हकीकत प्राणीयों को बताई।जंगल के सभी प्राणीयों ने चतुर खरगोश की बहुत प्रशंसा की, और चतुर खरगोश को अपने नायक के रूप मे स्वीकार किया।

Note: अगर आपको शेर और चालाक खरगोश की कहानी (Lion and Rabbit Story in Hindi) पसंद आती है तो चालाक खरगोश की कहानी (Lion and Rabbit Story in Hindi) सोशल मीडिया पर जरूर शेअर करे।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *