रामदास स्वामी के जीवनपर आधारित 31 विचार । Ramdas swami Thoughts

समर्थ रामदास स्वामी जिनका जन्म महाराष्ट्र के जालना जिले मे हुआ था। उन्होने अपने जीवन मे 12 साल तक श्री राम की उपासना कीई थी। Ramdas swami श्रीराम के भक्त थे।

उन्होने महाराष्ट्र के सातारा जिले मे चाफल यहा भगवान श्रीराम के एक बडे मंदिर का निर्माण किया और साथ मे कई मठों का निर्माण भी किया। Ramdas swami ने दासबोध, मनोबोध, आत्माराम आदि ग्रंथो की रचना भी की है।

रामदास स्वामी के विचार धारा का और उनके कार्य का प्रभाव स्वातंत्र्यवीर सावरकर, लोकमान्य तिलक और डॉ. केशव बलीराम हेडगेवार आदि महान नेताओं पर भी था। उन्होने समाज को अपने विचारों की मदद से एक नई दिशा दी। आज हम इस पोस्ट मे Ramdas swami के अनमोल विचारों के बारे मे जान लेंगे।

Samarth Ramdas swami Thoughts
ramdas swami thoughts
Photo by V. narsikar CC BY-SA 3.0

किसी विषय पर बात करने से पहले उस विषय पर सोच लेना चाहिए। किसी भी काम की शुरुवात करने से पहले उस काम के बारे मे जानना जरूरी है।

किसी रास्ते पर जाने से पहले वो रास्ता कहा जाता है ये जानना जरूरी है, कौनसा भी फल उसको जाने बिना नहीं खाना चाहिए।

हमने जो वचन दिया है उसे हमे नहीं भूलना चाहिए, वक्त आने पर हमे अपने शक्ति का उपयोग करना चाहिए।

किसी और का एहसान हम पे नहीं होने देना चाहिए अगर कोई हमपे एहसान करता है तो, उस एहसान की वापसी भी जल्दी करनी चाहिए।

महत्वपूर्ण कामों को कभी नज़रअंदाज़ नही करना चाहिए, जिन्होंने हमे कभी भी तकलीफ नहीं दी उनको तकलीफ नहीं देनी चाहिए।

अपनी ताकत का उपयोग दूसरोंकों बिना किसी कारण से तकलीफ देने के लिए नहीं करनी चाहिए।

समय आने पर दूसरों की मदद करनी चाहिए, शरण मे आए हुए प्राणी को माफ कर देना चाहिए।

किसी से भी कठोरता से पेश नहीं आना चाहिए, किसी प्राणी की हत्या नहीं करनी चाहिए, बारिश, और सही समय को ध्यान मे रख कर ही सफर के लिए जाना चाहिए।

जिसे ना समय का ध्यान रहता है, जिसे प्रयास करना नहीं आता, जिसे रिश्तों को निभाना नहीं आता, ऐसे इंसान का भाग्य बुरा होता है।

रात के समय सफर के लिए घर से बाहर निकलना नहीं चाहिए।

जादा क्रोधित नहीं होना चाहिए, अपने करीबी लोगों से और मित्रों से नाराज नहीं होना चाहिए, किसी को अच्छी सलाह देने के लिए पीछे नहीं हटाना चाहिए।

बात करते वक्त किसी को बुरा नहीं कहना चाहिए, अगर किसी ने अपमान किया तो वो नहीं सेह लेना चाहिए, दूसरों के टुकड़ो पर नहीं पलना चाहिए।

हमेशा सत्य का साथ देना चाहिए, असत्य का साथ कभी भी नहीं देना चाहिए, असत्य को गर्व के साथ नहीं कहना चाहिए।

जो इंसान खुद अपनी प्रशंसा करता है, और अपने घर मे दुख सेह लेता है अपने माँ बाप को दुख पहुंचाता है वो एक मूर्ख इंसान होता है।  

जो अपने पत्नी को जादा महत्व देता है और अपने रिश्तेदारों और माँ बाप को भूल जाता है, वो एक मूर्ख इंसान होता है।

अपना काम कोई दूसरा आकर कर लेगा ऐसी आशा लेकर जो अपना प्रयास छोड देता है, वो इंसान कभी सफल नहीं होता।

अपने घर मे पंडितों जैसी बाते करने वाला और घर के बाहर लोगों मे चुपचाप बैठनेवाला इंसान मूर्ख होता है।

जहापर बार बार जानेसे अगर सम्मान मिलता है, तो एक दिन वहापर बार बार जानेसे अपमानित भी होना पड़ेगा।

जो बेकसूर लोगों को बिना पूछ-ताछ किए उनको दंड देता है, वो इंसान मूर्ख होता है।

जिस इंसान के हात, पैर, मू और कपडे गंधे होते है, वो इंसान मूर्ख होता है।

जो इंसान किसी भी कारण से अति क्रोधित होकर कोई विनाश करता है और जिसकी बुद्धि स्थिर नहीं होती वो इंसान जल्द ही नष्ट हो जाता है।

जिसके पास बुद्धि नहीं है, धन नहीं है, और कोई साहस नहीं है वो इंसान मूर्ख होता है।

अपने माता पिता, रिश्तेदार, और अपने मित्रों को जो कष्ट पहुंचाता है, वो एक मूर्ख इंसान होता है।

चोरों का साथ देनेवाला और जो चीज पसंद आ जाए उस चीज की मांग करने वाला इंसान मूर्ख होता है।

पापी लोगों के साथ रहनेवाला और उनके जैसा बर्ताव करनेवाला और दिन मे साधू बननेवाला इंसान मूर्ख होता है।

जो इंसान खुद गलतीया करता है और दूसरोंकों उनके गलती पर हमेशा कुछ ना कुछ बोलता रहता है, वो इंसान मूर्ख होता है।

जो अपनी पत्नी को महत्व नहीं देता और किसी दूसरी औरतों को महत्व देता है, वो इंसान मूर्ख होता है।

जो अधर्म करता है और बेईमानी से धन कमाता है, जो अविचारी होता है ऐसा इंसान मूर्ख होता है।

जो इंसान घर मे आए हुए मेहमान का सम्मान नही करता उनसे नफरत करता है, और हमेशा चिंता करता रहता है वो इंसान मूर्ख होता है।

जब दो इंसान बात करते है और तीसरा उन दोनों के बीच जाकर परेशान हो जाता है वो इंसान मूर्ख होता है।

जो इंसान गरीबी से अमीर बन जाता है और अपने पुराने रिश्तों को भूल जाता है वो इंसान अमीर होकर भी हमेशा गरीब ही रहता है और वो इंसान मूर्ख होता है।

Note: अगर आपको Ramdas swami के अनमोल विचार पसंद आते है तो Ramdas swami thoughts को Facebook और Whatsapp पर share जरूर कीजिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *