[ग्रेट 53+] समाज के लिए अच्छा संदेश, समाज के लिए स्टेटस

समाज के लिए अच्छा संदेश जो समाज को उजाले की ओर लेकर जायेगा, समाज के लिए स्टेटस, समाज के ऊपर शायरी, को पढे और समाज को आगे बढ़ाने मे अपना सहयोग दे। समाज पर शायरी, samaj ke liye shayari, samaj par shayari, यह सबसे अच्छा संग्रह है।

समाज के लिए अच्छा संदेश

समाज के लिए स्टेटस

यदि समाज को आगे बढ़ाना है तो याद रहे हमे टांग के बदले हाथ को खिचना है।

yadi samaaj ko aage badhaana hai to yaad rahe hame taang ke badale haath ko khichana hai.

समाज के लिए जिये, समाज के लिए लढ़े, हाथ से हाथ मिलाकर अपने जीवन की उन्नति करे।

samaaj ke lie jiye, samaaj ke lie ladhe, haath se haath milaakar apane jeevan kee unnati kare.

आपको मानवता में विश्वास नहीं खोना चाहिए। मानवता एक महासागर है; यदि सागर की कुछ बूँदें गंदी हैं, तो सागर मैला नहीं हो जाता।

aapako maanavata mein vishvaas nahin khona chaahie. maanavata ek mahaasaagar hai; yadi saagar kee kuchh boonden gandee hain, to saagar maila nahin ho jaata.

हमारे समाज मे केवल एक चीज अच्छी है और वो है एक दूसरे को judge करना।

hamaare samaaj me keval ek cheej achchhee hai aur vo hai ek doosare ko judge  karana.

समाज के लिए स्टेटस

समाज के लिए स्टेटस

यदि समाज हमे प्रेरित करने मे सक्षम नहीं है तो समाज को हमारा मनोबल कम करने का कोई अधिकार नहीं है।

yadi samaaj hame prerit karane me saksham nahin hai to samaaj ko hamaara manobal kam karane ka koee adhikaar nahin hai.

अगर आपको समाज की परवाह नहीं है तो इसका मतलब है कि आप स्वतंत्र हैं।

agar aapako samaaj kee paravaah nahin hai to isaka matalab hai ki aap svatantr hain.

हमारा समाज सच मे एक मजाक है, आप जो भी करेंगे वे आपकी गलतियां ढूंढेंगे।

hamaara samaaj sach me ek majaak hai, aap jo bhee karenge ve aapakee galatiyaan dhoondhenge.

समाज की अनुमति का इंतज़ार मत करो।

samaaj kee anumati ka intazaar mat karo.

समाज पर शायरी samaj par shayari

समाज जीवन का वो हिस्सा है जिसे हर व्यक्ति हमेशा डरता रहता है।

samaaj jeevan ka vo hissa hai jise har vyakti hamesha darata rahata hai.

जो व्यक्ति कुछ करने के लिए समाज से डरेगा वो अपने जीवन कभी कुछ नहीं करेगा।

jo vyakti kuchh karane ke lie samaaj se darega vo apane jeevan kabhee kuchh nahin karega.

आपकी जिंदगी तब तक आपकी नहीं है जबतक आप समाज के बारे मे सोचते है।

aapakee jindagee tab tak aapakee nahin hai jabatak aap samaaj ke baare me sochate hai.

यदि हम समाज मे परिवर्तन चाहते है तो हमे सबसे पहले खुद के जीवन मे परिवर्तन लाना होगा।

yadi ham samaaj me parivartan chaahate hai to hame sabase pahale khud ke jeevan me parivartan laana hoga.

यदि आप समाज के अनुसार व्यवहार करते हैं तो समाज आपको वह कभी नहीं बनने देगा जो आप अपने जीवन में बनना चाहते हैं।

yadi aap samaaj ke anusaar vyavahaar karate hain to samaaj aapako vah kabhee nahin banane dega jo aap apane jeevan mein banana chaahate hain.

समाज के ऊपर शायरी

समाज सबके जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, व्यक्ति समाज के बिना जी नहीं सकता है। व्यक्ति का जीवन समाज के ऊपर निर्भर है। हमारे समाज मे कई तरह के स्वभाव के लोग रहते है, जो समाज के कई अंगो को हमारे सामने रखते है। हमारे समाज मे क्रोधी, लालची, ईमानदार, भ्रष्टाचारी, पशु प्रेमी, मानवतावादी और शिष्टाचारी ऐसे कई प्रकार के लोग रहते है, जो समाज के ऊपर अपने कर्मो से प्रभाव डालते है।

समाज के कर्मठ, बुरे लोगों ने समाज मे जो इंसानियत है उसको हमेशा जड़ से खत्म करने का काम किया है, लोगों को अपने स्वार्थ के लिए उपयोग किया है।

जो लोग समाज को बेहतर बनाना चाहते है उन्हे सबसे पहले अपने जीवन मे अच्छे विचारों की सहायता से बदलना होगा। बुरे, लालची, भ्रष्टाचारी और पापी कामों से दूर रहना होगा।

समाज के लिए स्टेटस पढ़कर अपने मित्रों के साथ सोशल साइट्स पर जरूर शेअर करे।

Leave a Comment