Skip to content

{Best 2022} माँ की ममता पर शायरी रुला देनेवाली Photo स्टेटस

माँ की ममता पर शायरी हिंदी शायरी Photo, Love माँ की ममता पर शायरी 2 line, माँ की ममता के स्टेटस: आप अपनी माँ से बहुत प्यार करते हैं इसलिए आप माँ की ममता पर शायरी पढ़ने आए हैं। आपका अपनी माँ के प्रति यह प्रेम देखकर हम बहुत हश हुए। आज हम खास आपके लिए इस पोस्ट मे माँ की ममता पर दिल को छूनेवाली शायरी लेकर आए है।

माँ की ममता पर शायरी

माँ की ममता पर शायरी हिंदी मे

माँ मुझे तेरे आंचल में जो अमृत की धारा मिली है,
इस अमृत की धारा का मूल्य मैं अपनी जान देकर
भी नहीं चुका सकता और ना ही इसका कोई मोल इस दुनिया में है।

जो बेटा अपनी माँ की आंखों को आँसू देता है,
वह जीवन भर सिर्फ दु:ख ही पाता है।

माँ तूने मुझे पाल पोसकर अंकुर से पौधा बना दिया,
माँ तूने मुझे इतना प्यार दिया कि मैंने अपने
जीवन में तुम्हें भगवान का दर्जा दिया।

जब किस्मत दगा देती है तो माँ का प्यार याद आता है,
जब कोई दिल दुखाता है तो रो कर मन हल्का करने
के लिए माँ का आँचल याद आता है।

ज़िंदगी भर इधर उधर सुख ढूंढता है तू, इतना क्यू मुर्ख है,
जाके देखले जरा माँ के आँचल में दुनिया का सारा सुख पड़ा है।

माँ की ममता में देखो कितना प्यार है,
दुनिया का हर सुख उसके आगे बेकार है।

मिला ना जिसे प्यार माँ का उसे हर एक चेहरे में माँ दिखती है,
मिला ना साया जिसे माँ का उसे हर एक चीज बेकार लगती है।

माँ है तो दुआ है, पिता है तो हौसला है।

माँ से बढ़कर इस दुनिया में कोई नहीं और माँ की
ममता से बढ़कर इस दुनिया में कोई खुशियां नहीं।

माँ की आंचल की बूंदे किसी मोती से कम नहीं,
जिसके पास माँ है उसे दुनिया का कोई गम नहीं।

मेरी राहों के कांटे चुनकर माँ तू खुद गुलाब बन जाती थी,
माँ तेरे साए में मुझे हर एक चीज जन्नत नजर आती थी।

माँ तेरी हाथों की मिठाई में दुनिया की सारी
मिठाइयों का मीठापन है, माँ तेरी लफ्जों में जीतने का विश्वास है,
माँ तेरी आंचल में खुदा का साया है,
माँ तेरे कदमों के नीचे जन्नत का रास्ता है।

माँ तेरी एक रोटी से बरसो की भूख मिट सकती है,
माँ तेरी शब्दों से जीने की नई उम्मीद जग जाती है।

हम को सूखा बिस्तर देकर वह खुद गीले में सो जाती थी,
उसकी बनाई हुई एक रोटी से बरसो की भूख मिट जाती थी,
वह माँ थी यारों जिसके आंचल में अमृत की धारा बहती थी।

माँ न होती तो यह दुनिया ना होती,
माँ ना होती तो यह जिंदगी ना होती,
माँ ना होती तो जिंदगी में खुशियां ना होती,
माँ ना होती तो जीने की आस नहीं होती।

लोग कहते हैं कि आज माँ का दिन है,
मुझे आप यह बताओ वह कौन सा दिन है जो माँ के बिन है।

दुनिया में सिर्फ एक ऐसी व्यक्ति है जिसे भगवान के सामने
खुद के लिए कुछ माँगने के लिए समय नहीं है
क्योंकि वो माँ है जो हमेशा अपने बच्चों के लिए ईश्वर के सामने
प्रार्थना करने में व्यस्त रहती है।

वह सभी लोग गरीब है जिनके पास सिर्फ दौलत है
और माँ नहीं है, और वह सभी लोग अमीर है
जिनके पास कुछ भी नहीं है फिर भी माँ है।

जब अपने बच्चों पर गम की आंधी चलती है,
तो माँ अपने बच्चों को अपनी ममता की बाहों में
छुपा देती है, दुनिया में कोई ऐसी जगह नहीं है
जहां माँ की ममता के सिवा सुरक्षा महसूस होती है।

हर रिश्ते में मिलावट मिलेगी हर दिखावे में
झूठी सजावट मिलेगी सिवाय माँ के हर चीज मे मिलावट मिलेग।

मैं हर रोज आसमान की सैर करता हूँ जब माँ मुझे
अपनी गोद में उठाती है, मैं हर रोज ईश्वर को पाता हूं
जब मैं अपनी माँ की ममता में सो जाता हूं।

हजारों गम के साए में मैं माँ को याद कर लेता हूं,
जब छूता हूं मैं अपनी माँ के कदम तो मै ईश्वर को पाता हूँ।

प्यार का नाम माँ है, वफा का नाम माँ है,
ईश्वर का नाम माँ है, जीवन का नाम माँ है
और इस जहां का नाम माँ है।

माँ के लिए कुछ lines

मनुष्य के जीवन में सबसे बड़ी दौलत माँ का प्यार है, माँ की ममता है। माँ है तो सबकुछ है। जब ईश्वर सबके जीवन मे सबका ख्याल रखने मे असमर्थ रहा तो उसने माँ को बनाया। माँ ईश्वर का अवतार है, ईश्वर का दूसरा रुप है।

मनुष्य के जीवन मे माँ का कोई मोल नहीं है। माँ की ममता मनुष्य मन से और तन से बड़ा करती है, उसे अपने जीवन मे किसी भी जीव के प्रति प्रेम करना सिखाती है, माँ है तो प्रेम है। जीसको भी माँ की सच्ची ममता  मिली है, वो मनुष्य अपने जीवन मे किसी के प्रति अपने दिल मे नफरत नहीं रखता है।

हर किसी से वो प्रेम से बात करता है। माँ की ममता जीवन देती है, माँ की ममता जीना सिखाती है, माँ की ममता सच के रास्ते पर चलना सिखाती है। माँ की ममता एक नई उम्मीद और हौसला देती है।

हम आशा करते है की आपको इस पोस्ट मे दी गई माँ की ममता पर शायरी जरूर पसंद आई होगी, यदि आपका मन यह माँ की ममता पर शायरी पढ़कर खुश हो जाता है तो अपने दोस्तों के साथ यह शायरी जरूर शेअर करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.